UPPSC Paper Leak: मल्टी लेयर डिजिटल लॉकर में रखे जाएंगे प्रश्न पत्र, कोड के जरिए होगी सुरक्षा

परीक्षा केंद्रों पर तय प्रक्रिया के अनुसार बक्सों से प्रश्नपत्रों के पैकेट निकाले जाएंगे और परीक्षा से 30 मिनट पहले दो अभ्यर्थियों की मौजूदगी में पैकेट खोले जाएंगे।

सीसीटीवी कैमरे भर्ती संस्थाओं के कंट्राेल रूम से जुड़े होंगे और पूरी प्रक्रिया की लाइव स्ट्रीमिंग कराई जाएगी। (प्रतीकात्मक-फ्रीपिक)सीसीटीवी कैमरे भर्ती संस्थाओं के कंट्राेल रूम से जुड़े होंगे और पूरी प्रक्रिया की लाइव स्ट्रीमिंग कराई जाएगी। (प्रतीकात्मक-फ्रीपिक)

Santosh Kumar | July 6, 2024 | 03:31 PM IST

नई दिल्ली: देश में पेपर लीक के मामलों में बढ़ोतरी के बाद यूपी में प्रश्नपत्रों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने पेपर लीक रोकने के लिए नई व्यवस्था लागू की है। इसके मुताबिक अब प्रश्नपत्रों को डिजिटल लॉक से लैस बक्सों में रखा जाएगा। बक्सों से छेड़छाड़ आसान नहीं होगी क्योंकि वे मल्टीलेयर होंगे। आयोग सभी भर्ती परीक्षाओं में यह व्यवस्था लागू करेगा। इसे लेकर आदेश जारी कर दिया गया है।

यूपीपीएससी द्वारा लागू किए गए इस नियम को अन्य भर्ती एजेंसियां भी अपनाएंगी। इसके अनुसार प्रश्नपत्र प्रिंटिंग प्रेस से डिजिटल लॉक वाले लोहे के बक्सों में निकालकर संबंधित जिलों के कोषागार में रखे जाएंगे। कोषागार से भी इन्हीं बक्सों में प्रश्नपत्र परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाए जाएंगे। परीक्षा केंद्रों पर तय प्रक्रिया के अनुसार बक्सों से प्रश्नपत्रों के पैकेट निकाले जाएंगे और परीक्षा से 30 मिनट पहले दो अभ्यर्थियों की मौजूदगी में पैकेट खोले जाएंगे।

कोषागार में प्रश्नपत्र रखने और निकालने तथा परीक्षा केंद्रों पर प्रश्नपत्र खोलने की प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जाएगी। प्रश्नपत्रों के लिए तैयार किए जाने वाले बक्से न केवल मल्टीलेयर होंगे, बल्कि उनमें पेंच भी नहीं होंगे। बक्से के दोनों तरफ ताले लगे होंगे। ताकि पेंच निकालने के बाद भी प्रश्नपत्रों से छेड़छाड़ न की जा सके।

इसमें डिजिटल लॉक होगा। इसका कोड आयोग के अधिकारी के पास रहेगा। परीक्षा से आधे घंटे पहले आयोग का संबंधित अधिकारी कोड बताएगा। इसके बाद परीक्षा केंद्र पर बॉक्स खोलकर प्रश्नपत्रों का बंडल निकाला जा सकेगा।

Also readUPPSC OMR Sheet: यूपीपीएससी ने परीक्षा प्रणाली में किया बदलाव, अब तीन प्रतियों में होगी उत्तर पुस्तिका

इन परीक्षाओं में उपयोग किया गया

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने सहायक नगर नियोजक भर्ती प्रारंभिक परीक्षा-2023 में मल्टीलेयर और डिजिटल लॉक वाले बॉक्स का इस्तेमाल किया है। यह परीक्षा प्रयागराज और लखनऊ के विभिन्न केंद्रों पर हुई।

इस समय आयोग की ओर से अपर निजी सचिव भर्ती-2023 के दूसरे चरण की परीक्षा के तहत टाइपिंग और शॉर्टहैंड की परीक्षा कराई जा रही है। परीक्षा लखनऊ के राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र में चल रही है। इसमें भी प्रश्नपत्र तथा अन्य कागजात इसी बक्से में लाए गए। साथ में उत्तर पुस्तिका भी इसी में रखी जा रही है।

भर्ती बोर्ड या चयन आयोग में हर परीक्षा में कंट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा और वहीं से पूरी भर्ती प्रक्रिया पर निगरानी रखी जाएगी। कोषागार से पेपर निकाले जाने से लेकर परीक्षा केंद्र में प्रश्नपत्र के बंडल खोले जाने तक की प्रक्रिया पर सीसीटीवी कैमरे से नजर रखी जाएगी। सीसीटीवी कैमरे भर्ती संस्थाओं के कंट्राेल रूम से जुड़े होंगे और पूरी प्रक्रिया की लाइव स्ट्रीमिंग कराई जाएगी।

सोर्स-अमर उजाला

Download Our App

Start you preparation journey for JEE / NEET for free today with our APP

  • Students300M+Students
  • College36,000+Colleges
  • Exams550+Exams
  • Ebooks1500+Ebooks
  • Certification16000+Certifications