जम्मू-कश्मीर के सभी स्कूलों में राष्ट्रगान गाना अनिवार्य, शिक्षा विभाग का आदेश

विभाग द्वारा जारी परिपत्र में कहा गया है, "मानक प्रोटोकॉल के अनुसार, सुबह की सभा राष्ट्रगान के साथ शुरू होनी चाहिए।" सचिव ने केंद्र शासित प्रदेश के सभी स्कूलों को सुबह की प्रार्थना सभा एक समान करने का निर्देश दिया है।

शिक्षा विभाग के सर्कुलर में स्कूलों के लिए 16 कदम सुझाए गए हैं। (इमेज-पीटीआई)शिक्षा विभाग के सर्कुलर में स्कूलों के लिए 16 कदम सुझाए गए हैं। (इमेज-पीटीआई)

Press Trust of India | June 14, 2024 | 11:09 AM IST

नई दिल्ली: केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के स्कूलों के लिए शिक्षा विभाग की ओर से बड़ा फैसला लिया गया है। इस फैसले के तहत अब स्कूलों में सुबह की प्रार्थना में राष्ट्रगान गाना अनिवार्य कर दिया गया है। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव ने एक सर्कुलर के जरिए केंद्र शासित प्रदेश के सभी स्कूलों को सुबह की प्रार्थना सभा एक समान करने का निर्देश दिया है।

विभाग द्वारा जारी परिपत्र में कहा गया है, "मानक प्रोटोकॉल के अनुसार, सुबह की सभा राष्ट्रगान के साथ शुरू होनी चाहिए।" विभाग ने कहा कि सुबह की सभा छात्रों में एकता और अनुशासन की भावना पैदा करने में एक अमूल्य अनुष्ठान साबित हुई है।

Also readJKBOSE Class 10 Result 2024: जम्मू-कश्मीर बोर्ड 10वीं रिजल्ट jkresults.nic.in पर जारी, ऐसे करें चेक

सर्कुलर में स्कूलों के लिए 16 कदम सुझाए गए हैं। इसमें यह भी कहा गया है कि "स्कूल असेंबली नैतिक अखंडता, साझा समुदाय और मानसिक शांति के मूल्यों को पोषित करने के लिए मंच के रूप में काम करती है। हालांकि, यह देखा गया है कि इस तरह के एक महत्वपूर्ण अनुष्ठान/परंपरा को जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के विभिन्न स्कूलों में समान रूप से नहीं निभाया जा रहा है।"

विभाग ने सुझाव दिया कि अतिथि वक्ताओं को आमंत्रित करना, पर्यावरण के बारे में जागरूकता पैदा करना और नशीली दवाओं के खतरे के खिलाफ कदम उठाना कुछ ऐसी चीजें हैं जिन्हें स्कूलों को सुबह की सभाओं में शामिल करना चाहिए।

Download Our App

Start you preparation journey for JEE / NEET for free today with our APP

  • Students300M+Students
  • College36,000+Colleges
  • Exams550+Exams
  • Ebooks1500+Ebooks
  • Certification16000+Certifications