IIM Udaipur: आईआईएम उदयपुर में एमबीए प्रोग्राम के 13वें बैच में 384 छात्रों ने लिया प्रवेश, 32 प्रतिशत महिलाएं

दो वर्षीय एमबीए कार्यक्रम के अध्यक्ष प्रोफेसर देबांजन मित्रा ने नए बैच को आगे आने वाले अवसरों और चुनौतियों को स्वीकार करने के लिए प्रोत्साहित किया, तथा आलोचनात्मक और बौद्धिक सोच के महत्व पर बल दिया।

आईआईएम उदयपुर ने रिकॉर्ड नामांकन के साथ एमबीए प्रोग्राम के 13वें बैच का स्वागत किया।आईआईएम उदयपुर ने रिकॉर्ड नामांकन के साथ एमबीए प्रोग्राम के 13वें बैच का स्वागत किया।

Saurabh Pandey | June 26, 2024 | 11:37 AM IST

नई दिल्ली : भारतीय प्रबंध संस्थान, उदयपुर (आईआईएम उदयपुर) ने अपने दो वर्षीय एमबीए कार्यक्रम के 2024-26 बैच के छात्रों के लिए एक समारोह आयोजित किया। जिसमें 384 छात्रों ने भाग लिया। यह अब तक का सबसे बड़ा बैच है।

इस बैच में 32 प्रतिशत महिलाएं और 68 प्रतिशत पुरुष छात्र हैं। इसके अलावा 58 प्रतिशत छात्र इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि से हैं, जबकि 42 प्रतिशत गैर-इंजीनियरिंग क्षेत्रों से आते हैं। वहीं 60 प्रतिशत छात्रों के पास पूर्व कार्य अनुभव है, जबकि 40 प्रतिशत छात्र फ्रेशर हैं।

आईआईएम उदयपुर के निदेशक प्रो. अशोक बनर्जी ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इगॉन जेंडर के सन्नी इकबाल मुख्य अतिथि थे। सन्नी इकबाल ने नई दिल्ली, बैंगलोर और मुंबई में इगॉन जेंडर के कार्यालयों की स्थापना में मदद की। वे उत्तराधिकार, संस्थापक परिवर्तन, शासन और बाजारों में पारिवारिक चार्टर विकास पर पारिवारिक व्यवसायों को सलाह देते हैं।

सन्नी ने सह-संस्थापक के रूप में काम किया और फर्म के वैश्विक पारिवारिक व्यवसाय सलाहकार अभ्यास का सह-नेतृत्व किया। उन्होंने छात्रों से अपने करियर के सभी चरणों में अच्छे रिश्ते बनाने और उन रिश्तों को समझदारी से संभालने पर ध्यान केंद्रित करने का भी आग्रह किया।

डीन, प्रोग्राम्स, प्रो. राजेश नानारपुर्रा ने आईआईएमयू में छात्रों की भूमिका के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि छात्रों को आईआईएमयू में अपने पहले दिन को एक नई यात्रा की शुरुआत के रूप में सोचना चाहिए, जो उनके जीवन में अगले दशकों तक जारी रहेगी।

दो वर्षीय एमबीए कार्यक्रम के अध्यक्ष प्रोफेसर देबांजन मित्रा ने नए बैच को आगे आने वाले अवसरों और चुनौतियों को स्वीकार करने के लिए प्रोत्साहित किया, तथा आलोचनात्मक और बौद्धिक सोच के महत्व पर बल दिया।

आईआईएम उदयपुर के निदेशक प्रो. अशोक बनर्जी ने सभी छात्रों को बधाई दी। उन्होंने इस बैच के लिए तैयार किए गए नए संशोधित पाठ्यक्रम के बारे में बात की, जिसका उद्देश्य एक अनूठा और परिवर्तनकारी शैक्षिक अनुभव प्रदान करना है। प्रो. बनर्जी ने आने वाले छात्रों की विविध पृष्ठभूमि पर जोर दिया और आईआईएम उदयपुर में एमबीए के दो साल के सक्रिय पाठ्यक्रम में रैपिड ट्रांसफॉर्मेशन के बारे में भी बात की।

छात्रों को किया गया सम्मानित

उद्घाटन समारोह में प्रथम वर्ष के तीनों सत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए शैक्षणिक पुरस्कारों के वितरण के साथ अकादमिक उत्कृष्टता का भी जश्न मनाया गया, जिन छात्रों ने पुरुस्कार प्राप्त किए उनके नाम हैं-

  • टर्म I - दीप्ति सिंह, जोशुआ अल्मेडा, रुशिल सिंघल, तथागत उदय, विट्ठल विक्रांत
  • टर्म II - अग्रवाल नमन खेमचंद, अलेख्या तुम्माला, जोशुआ जूड अल्मेडा, रुशिल सिंघल, तथागत उदय
  • टर्म III - अभिषेक कुमार, दीप्ति सिंह, लक्ष्मी प्रिया बी, सौम्यदीप दास, तथागत उदय

Also read IIM Udaipur: आईआईएम उदयपुर में समर प्रोग्राम इन मैनेजमेंट के सबसे बड़े बैच का उद्घाटन, 150 छात्र शामिल

इसके अतिरिक्त, कई छात्रों को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए निदेशक पुरस्कार प्रदान किए गए, जिन छात्रों ने पुरुस्कार प्राप्त किए उनके नाम हैं:

दीप्ति सिंह, मानसी जैन, विश्वजीत टी खोत, अलेख्या तुम्माला, अभिषेक कुमार, जोशुआ जूड अल्मेडा, तथागत उदय, अग्रवाल नमन खेमचंद, गोरली सिंधु, रुशिल सिंघल, चगंती श्री सत्य साहिती, गुरुप्रीत सिंह सचदेव, सौम्यदीप दास, मयंक शर्मा, जॉन मेडविन वी, आयुष सैनी और शुभम मणि कौशिक।

समारोह की कार्यवाही का प्रबंधन कार्यक्रम अधिकारी उदय भास्कर ने किया और प्रोफेसर शोभित अग्रवाल के धन्यवाद ज्ञापन के साथ समापन हुआ।

Download Our App

Start you preparation journey for JEE / NEET for free today with our APP

  • Students300M+Students
  • College36,000+Colleges
  • Exams550+Exams
  • Ebooks1500+Ebooks
  • Certification16000+Certifications