NEET UG Row: 18वीं लोकसभा सत्र के पहले दिन संसद घेराव की कोशिश, दो दर्जन से अधिक छात्र हिरासत में

आरोपियों ने अभ्यर्थियों से कहा कि वे जो प्रश्न जानते हैं, उन्हें हल करें और बाकी को खाली छोड़ दें, जिसे परीक्षा के बाद पेपर मिलने पर भरा जाएगा।

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान जब सदन के सदस्य के तौर पर शपथ ले रहे थे, तब विपक्षी सदस्यों ने नारेबाजी की। (इमेज-पीटीआई)शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान जब सदन के सदस्य के तौर पर शपथ ले रहे थे, तब विपक्षी सदस्यों ने नारेबाजी की। (इमेज-पीटीआई)

Press Trust of India | June 24, 2024 | 04:36 PM IST

नई दिल्ली: नीट यूजी में अनियमितताओं और यूजीसी नेट परीक्षा रद्द करने के खिलाफ आज, 24 जून को जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे दो दर्जन से अधिक छात्रों को हिरासत में लिया गया। इनमें से कुछ छात्र एनएसयूआई के सदस्य थे, जिन्होंने 18वीं लोकसभा सत्र के पहले दिन संसद तक मार्च की योजना बनाई थी। छात्र तख्तियां और एनएसयूआई के झंडे लेकर संसद घेराव के लिए जंतर-मंतर पर बड़ी संख्या में एकत्र हुए थे।

बताया जा रहा है कि प्रदर्शन से पहले पुलिस ने छात्रों को मार्च निकालने से रोकने के लिए इलाके में बैरिकेडिंग की थी। इस दौरान मौके पर अर्धसैनिक बलों के साथ दिल्ली पुलिस की भारी तैनाती की गई थी। इस पर कुछ छात्रों ने बैरिकेडिंग लांघने की कोशिश की। जिस पर पुलिस ने छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की। एनएसयूआई के सदस्य 5 मई को आयोजित राष्ट्रीय पात्रता सह स्नातक प्रवेश परीक्षा (नीट-यूजी) को रद्द करने की मांग कर रहे थे।

NEET UG Paper Leak: विपक्षी दलों ने संसद में लगाए नारे

सोमवार (24 जून) को लोकसभा में भी नीट परीक्षा में कथित अनियमितताओं का मुद्दा गूंजा। शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान जब सदन के सदस्य के तौर पर शपथ ले रहे थे, तब विपक्षी सदस्यों ने नारेबाजी की। शपथ के दौरान विपक्षी दलों के कुछ सदस्यों ने 'नीट-नीट' और 'शेम-शेम' के नारे लगाए।

बता दें कि विपक्ष राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा-स्नातक (नीट-यूजी) 2024 में कथित अनियमितताओं और प्रश्नपत्रों के कथित लीक होने को लेकर सरकार को घेर रहा है। विपक्षी सदस्य संसद के मौजूदा सत्र में इस मुद्दे को जोर-शोर से उठा सकते हैं।

विपक्षी दल नीट-यूजी 2024 परीक्षा रद्द करने और शिक्षा मंत्री प्रधान के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। इस बीच, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 5 मई को आयोजित परीक्षा में कथित अनियमितताओं के संबंध में केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा जारी संदर्भ के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की।

Also readNEET 2024 Paper Leak: बिहार में नीट पेपर लीक मामले में 5 संदिग्ध गिरफ्तार, कुल संख्या 18 पहुंची

NEET 2024 Controversy: सीबीआई की एक टीम पहुंची गोधरा

अधिकारियों के अनुसार, नीट परीक्षा में कथित अनियमितताओं की जांच के लिए सीबीआई की एक टीम 24 जून को गुजरात के पंचमहल जिले के गोधरा शहर पहुंची। बता दें कि यहां गुजरात पुलिस ने 27 उम्मीदवारों को 10-10 लाख रुपये लेकर नीट परीक्षा पास कराने में कथित तौर पर मदद करने के आरोप में 8 मई को भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था।

पंचमहल के पुलिस अधीक्षक हिमांशु सोलंकी ने बताया कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक टीम गोधरा पहुंची और स्थानीय पुलिस अधिकारियों से मुलाकात की। उन्होंने कहा, "हम मामले की जांच के लिए उन्हें हर संभव सहायता प्रदान करेंगे।"

गुजरात पुलिस ने अब तक गोधरा के एक स्कूल के प्रिंसिपल और शिक्षक समेत 5 लोगों को नीट यूजी परीक्षा 2024 में कथित अनियमितताओं के सिलसिले में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में तुषार भट्ट, स्कूल के प्रिंसिपल पुरुषोत्तम शर्मा, वडोदरा के शिक्षा सलाहकार परशुराम रॉय, उनके सहयोगी विभोर आनंद और आरिफ वोहरा शामिल हैं।

थाने में दर्ज एफआईआर के अनुसार भट्ट के पास से 7 लाख रुपए नकद बरामद किए गए हैं। उसे शहर में नीट के लिए डिप्टी सेंटर सुपरिंटेंडेंट नियुक्त किया गया था। सूत्रों के अनुसार, जिन 27 छात्रों ने एडवांस राशि का भुगतान किया था, उनमें से केवल 3 ही परीक्षा पास कर पाए। आरोपियों ने अभ्यर्थियों से कहा कि वे जो प्रश्न जानते हैं, उन्हें हल करें और बाकी को खाली छोड़ दें, जिसे परीक्षा के बाद पेपर मिलने पर भरा जाएगा।

Download Our App

Start you preparation journey for JEE / NEET for free today with our APP

  • Students300M+Students
  • College36,000+Colleges
  • Exams550+Exams
  • Ebooks1500+Ebooks
  • Certification16000+Certifications