NEET Scam 2024: कोलकाता में नीट मेरिट लिस्ट में स्थान दिलाने के नाम पर ठगी, एक व्यक्ति गिरफ्तार

अधिकारी ने बताया कि शिकायत में छात्र के पिता ने दावा किया है कि उन्होंने सौदे के लिए आरोपी द्वारा मांगे गए 12 लाख रुपये में से 5 लाख रुपये का भुगतान किया था।

नीट यूजी परीक्षा 2024 5 मई को आयोजित की गई थी। (प्रतीकात्मक-फ्रीपिक)नीट यूजी परीक्षा 2024 5 मई को आयोजित की गई थी। (प्रतीकात्मक-फ्रीपिक)

Press Trust of India | June 26, 2024 | 12:01 PM IST

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी मेडिकल परीक्षा नीट यूजी 2024 में कई राज्यों से अनियमितताओं की खबरें आ रही हैं। इस बीच कोलकाता में शिक्षण संस्थान से जुड़े एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया। उस पर एक छात्र के माता-पिता से पैसे लेकर उसे नीट मेरिट लिस्ट में जगह दिलाने का वादा करने का आरोप है। पुलिस ने बुधवार (26 जून) को यह खबर मीडिया से साझा की।

पुलिस ने बताया कि कोलकाता स्थित एक शिक्षण संस्थान से जुड़े एक व्यक्ति को एक छात्र के माता-पिता से पैसे लेने और उसे नीट मेरिट लिस्ट 2024 में जगह दिलाने का वादा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आरोपी ने छात्र को कोलकाता के मेडिकल कॉलेज में सीट दिलाने का आश्वासन दिया था।

पुलिस अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, "शेक्सपियर सरणी पुलिस थाने में दर्ज शिकायत के आधार पर हमने आरोपी को मंगलवार (25 जून) रात को गिरफ्तार कर लिया। हम उससे पूछताछ कर रहे हैं ताकि पता लगाया जा सके कि वह किसी रैकेट में शामिल तो नहीं है।"

बता दें कि राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) द्वारा मई में आयोजित नीट यूजी 2024 में अनियमितताओं के कई आरोप हैं। अधिकारी ने बताया कि अपनी शिकायत में छात्र के पिता ने दावा किया है कि उन्होंने सौदे के लिए आरोपी द्वारा मांगे गए 12 लाख रुपये में से 5 लाख रुपये का भुगतान किया था।

Also readNEET Scam 2024: नीट परीक्षा केंद्रों में गड़बड़ी; दूसरे प्रयास में अज्ञात केंद्रों से छात्रों की रैंक में उछाल

NEET Scam 2024: सीबीआई अन्य राज्यों में कर रही जांच

सूत्रों ने बताया कि नीट पेपर लीक की जांच कर रहे सीबीआई जांचकर्ताओं ने 25 जून को फिर से शास्त्री नगर पुलिस स्टेशन के अधिकारियों से मुलाकात की, जहां पिछले महीने की शुरुआत में इस संबंध में पहला मामला दर्ज किया गया था।

डीआईजी और डिप्टी एसपी रैंक के अधिकारी वाली केंद्रीय एजेंसी की टीम ने सोमवार को पहली बार शास्त्री नगर पुलिस स्टेशन के साथ मामले पर चर्चा की। सीबीआई के अधिकारियों ने दिन में बिहार पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से भी मुलाकात की।

बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने मंगलवार को घोषणा की कि उसने मामले की जांच “पूरी” कर ली है। ईओयू ने मामले के सिलसिले में मुख्य संदिग्ध सिकंदर यादवेंदु, उसके सहयोगियों, कुछ उम्मीदवारों और उनके माता-पिता सहित कुल 18 लोगों को गिरफ्तार किया। वे सभी अब न्यायिक हिरासत में हैं।

बताया जा रहा है कि सीबीआई की दो सदस्यीय टीम पटना के एक घर में भी गई थी, जहां से कई आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था और पुलिस ने 5 मई को सबूत जुटाए थे, जब देशभर में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा मेडिकल प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई थी। इसके अलावा सीबीआई की एक टीम गुजरात के गोधरा में भी जांच कर रही है।

Download Our App

Start you preparation journey for JEE / NEET for free today with our APP

  • Students300M+Students
  • College36,000+Colleges
  • Exams550+Exams
  • Ebooks1500+Ebooks
  • Certification16000+Certifications